सोमवार, 14 जून 2010

बंधु आगे बढ़ता चल, सबका माल पचाता चल कवि सम्मेलन में सम्मानित हुए डा. परिहार






आगरा। साहित्यिक संस्था आनंद मंगलम् एवं हरप्रसाद व्यवहार अध्ययन संस्थान के तत्वावधान में स्थानीय माथुर वैश्य महासभा भवन में विगत रात्रि अ.भा. कवि सम्मेलन व सम्मान समारोह संपन्न हुआ। कार्यक्रम का उद्घाटन केन्द्रीय मंत्री रामजीलाल सुमन ने किया। मुख्य अतिथि सांसद डा. रामशंकर कठेरिया थे।
इस अवसर पर विचार-बिगुल ब्लॉग के ब्लॉगर, कवि तथा पत्रकार डा. महाराज सिंह परिहार, पत्रकार अमी आधार निडर, चर्चित गीतकार डा. राजकुमार रंजन आदि का शॉल ओढ़ाकर तथा श्रीफल प्रशस्ति पत्र देकर सम्मान किया गया। इस अवसर पर हुए कवि सम्मेलन का शुभारंभ व्यंजना शुक्ला की सरस्वती वंदना से हुआ। ओजस्वी कवि डा. महाराज सिंह परिहार ने प्रगति के बदलते प्रतिमानों को इस प्रकार व्यक्त कियाः-
बंधु आगे बढ़ता चल, सबका माल पचाता चल
अगर तरक्की करनी है तो टंगड़ी मार गिराता चल
सच्चाई को आग लगादे, भाईचारे को दफनादे
उन्हें डुबोकर बीच भंवर में, अपनी किश्ती पार लगादे
झूठ फरेबों की नदिया में गोते खूब लगाता चल
कर्यक्रम का संचालन करते संयोजक शिव सागर ने कहाः-
तुम मेरे साथ चलो हंसकर तो पथ सावन हो जायेगा
तुम जिस अरण्य में जाओगे वह वृन्दावन हो जायेगा
प्रो- ओमपाल सिंह निडर पूर्व सांसद, डा. राजकुमार रंजन, सुरेन्द्र दुबे, कीर्ति काले, ध्रुवेन्द्र भदौरिया, सत्येन सत्येन, सुरेश पराग, डा. राधेश्याम मिश्र, शारदा प्रसाद मिश्र आदि ने काव्य पाठ किया। इस अवसर पर पूर्व विधायक चौ. बदन सिंह, कवि अशोक सक्सैना, युवा शायर अरविन्द समीर सहित शहर के गणमान्य लोग मौजूद थे।

1 टिप्पणी: